Latest

6/recent/ticker-posts

जिला दंडाधिकारी के निर्देशानुसार शिक्षा उपलब्ध करवाने के दिशा में सतत कार्य किया जा रहा है।

शिक्षा विभाग 

संवादाता/देवघर : उपायुक्त सह जिला दंडाधिकारी श्री कमलेश्वर प्रसाद सिंह के निर्देशानुसार शिक्षा विभाग द्वारा देवघर जिले के विद्यार्थियों को लिए डिजी साथ कार्यक्रम के माध्यम से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध करवाने के दिशा में सतत कार्य किया जा रहा है। जिले में बेहतर शैक्षिक माहौल विकसित करने के क्रम में जिला शिक्षा पदाधिकारी देवघर डॉ०माधुरी कुमारी की अध्यक्षता में जिलास्तरीय वेबिनार का आयोजन किया गया जिसमें मुख्य अतिथि एवं वक्ता के रूप से राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) के केंद्रीय शैक्षिक प्रौद्योगिकी संस्थान (सीआईईटी) के संयुक्त निदेशक प्रो०अमरेंद्र प्रसाद बेहेरा एवं आईसीटी प्रशिक्षक प्रो०देबाशीष जयसवाल शामिल हुए।

इसके अलावे जिला शिक्षा पदाधिकारी ने स्वागत करते हुए वेबिनार का विषयवस्तु एवं उद्देश्यों से मुख्य अतिथियों का परिचय करवाया एवं देवघर जिले में डिजी साथ कार्यक्रम के बारे में संक्षिप्त परिचय दिया | नीति आयोग द्वारा संचालित प्रोजेक्ट-ई प्रतिनिधि सुजीत कुमार ने देवघर जिले में संचालित विभिन्न पहलों के बारे में विस्तार से बताया जिसे संयुक्त निदेशक द्वारा काफी सराहा गया | वेबिनार में शामिल प्रतिभागी संकुल स्तर पर अन्य शिक्षकों को प्रशिक्षित करेंगे | श्री बेहेरा ने देवघर जिले द्वारा किये जा रहे कार्यों की प्रशंसा करते हुए जोड़ा कि अभिभावकों को जोड़ने के लिए उपायुक्त के अध्यक्षता में आयोजित ऑनलाइन शिक्षक अभिभावक दिवस एवं डायट के अकादमिक सहयोग से आयोजित क्लस्टर अकादमिक मीटिंग वास्तव में सराहनीय है | सुजीत कुमार ने आगामी योजनाओं जैसे विषय आधारित वेबिनार, गूगल प्रोजेक्ट आदि के बारे में बताया जिसके बारे में श्री बेहेरा ने हरसंभव सहायता करने की बात कही |

बैठक की अध्यक्षता कर रहे प्रो०अमरेंद्र बेहेरा ने हाल में ही मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा जारी “प्रज्ञाता” एवं “मनोदर्पण” के बार में पीपीटी के माध्यम से विस्तार से बताया | श्री बेहेरा ने कहा कि लॉकडाउन में तनाव एवं मानसिक अवसाद से बचने के लिए मनोदर्पण मार्गदर्शिका जारी की गई है जिसे शिक्षकों को अवश्य पढना चाहिए | उन्होंने बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा एवं शिक्षकों को स्व-क्षमतावर्द्धन दीक्षा एप, ई-पाठशाला एप, किशोर मंच, निष्ठा मोड्यूल आदि के बारे में विस्तार से बताया | उन्होंने साइबर लिटरेसी को भी डिजिटल एजुकेशन का एक अंग बताया जिसके बारे में शिक्षकों एवं विद्यार्थियों को जानना चाहिए |

मध्य विद्यालय विवेकानंद की सहायक शिक्षिका सह आईसीटी ट्रेनर श्वेता शर्मा ने निष्ठा प्रशिक्षकों के द्वारा देवघर जिले में किये जा रहे प्रयासों के बारे में बताया | साथ ही निष्ठा प्रशिक्षकों के द्वारा विभिन्न व्हात्सप्प ग्रुप्स के माध्यम से शिक्षकों के क्षमतावर्धन के लिए किए जा रहे प्रयासों के बारे में जानकारी एस0आर0पी श्वेता शर्मा द्वारा दी गई ।

वेबिनार में शिक्षकों ने मुख्य अथितियों से डिजिटल शिक्षा को बेहतर बनाने के लिए एवं विद्यार्थियों को सहज शिक्षा देने केलिए सवाल भी पूछे | कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए प्रो०अमरेंद्र प्रसाद बेहेरा, विभागाध्यक्ष इंदु कुमार ने जिला शिक्षा परियोजना देवघर को बधाई दिया |



Post a Comment

0 Comments