Latest

6/recent/ticker-posts

1.5 करोड़ डेयरी कृषकों को केसीसी से आच्छादित करने की घोषणा की

facebook live कार्यक्रम

संवादाता/देवघर : आज दिनांक- 31.07.2020 को सूचना भवन सभागार में पूर्व निर्धारित समय पूर्वाहन-11 बजे से दोपहर-12 बजे तक जिलां गव्य विकास विभाग की ओर से तकीनीकी पदाधिकारी श्री त्रिशूल प्रकाश सिंह की उपस्थिति में facebook live कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का संचालन जिला सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालय की ओर से सोशल मीडिया एंड पब्लीसिटी ऑफिसर सुश्री सुधा राज के द्वारा किया गया। कार्यक्रम में तकीनीकी पदाधिकारी के द्वारा फेसबुक लाइव के माध्यम से जनता के साथ संवाद किया गया। तकरीबन एक घंटे तक चले इस संवाद कार्यक्रम के दौरान जिलां गव्य विकास विभाग से सबंधित कई सरकारी योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। इस दौरान उन्होंने पशुपालको भाईयों के समस्याओं व सवालों का भी जवाब दिया।
●हरा चारा उत्पादन एवं उससे प्राप्त लाभ से संबंधित जानकारी दें?
---हरा चारा दुधारू पशुओं के लिए पोषक तत्वों का एक किफायती स्रोत है। यह अत्यधिक सुपाच्य तथा स्वादिष्ट होता है। इसमें उपस्थित mixed microorganisms मिश्रित भोजन के अंतर्गत फसल अवशेषों की digestion को बेहतर करने में मदद करता है। यह पशुओं के प्रजनन क्षमता को बेहतर करने तथा अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है। पशुओं की खुराक में हरे चारे का ज्यादा इस्तेमाल दूध उत्पादन के खर्च को कम कर सकता है। अधिक उपज के लिए उन्नत किस्मों के प्रमाणित बीज एवं रोपण सामग्री का इस्तेमाल करें। उन्नत कृषि विधियों जैसे खेतों की तैयारी, समय से बुवाई, उर्वरकों का प्रयोग, सिंचाई, कीट नियंत्रण एवं समयबद्ध कटाई का इस्तेमाल करें। दो प्रमुख मौसमी फसलों के बीच में कम समय में पकने वाली किस् जैसे- मक्का, सूरजमुखी, चाइनीज कैबेज, शलजम इत्यादि को बोएं।
  • डेयरी पशु पालकों को किसान क्रेडिट कार्ड KCC से आच्छादित करने के संबंध में विस्तृत जानकारी दें?
भारत सरकार द्वारा वर्तमान आर्थिक मंदी के दौर में किसानों की माली हालत में सुधार हेतु 1.5 करोड़ डेयरी कृषकों को केसीसी से आच्छादित करने की घोषणा की गई है। Dairy cooperative / milk union द्वारा संचालित दुग्ध संग्रह केंद्र उससे जुड़े वैसे सभी पशु पालकों को जिनके पास kcc नहीं है उन्हें kcc से आच्छादित किया जाएगा। वैसे किसान जिनके पास पूर्व से भूमि स्वामित्व के आधार पर केसीसी कार्ड है उनके लिए क्रेडिट सीमा की अभिवृद्धि की जा सकती है। kcc की सामान्य सीमा 1.60 लाख बिना collateral security परंतु वैसे किसान जिनका दुग्ध, बिना किसी बिचौलिए के दुग्ध समूहों द्वारा प्राप्त किया जाता है उनके मामले में यह सीमा बिना collateral के 3.0 लाख होगी।
इस कार्यक्रम का मुख्य उदेश्य सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को आम जनता के समक्ष रखना हैं। जिसके तहत विभिन्न विभागों के पदाधिकारी अपने विभाग से जुड़े योजनाओं के संबंध में आम जनता के साथ facebook live के माध्यम से उनकी जिज्ञासाओं एवं समस्याओं का निदान करने का प्रयास करते है। इस कार्यक्रम के अंतर्गत प्रत्येक सप्ताह के मंगलवार एवं शुक्रवार को जिला स्तरीय पदाधिकारी सूचना भवन सभागार में उपस्थित होकर Deoghar Prd के facebook Account से लाईव होकर अपने विभाग के योजनाओं की जानकारी आमजनों को देते है।
  • ●Jharkhand Milk Federation द्वारा संचालित MPP, BMC के बारे में विस्तृत जानकारी दें।
MPP (दुग्ध संग्रहण केंद्र) JMF द्वारा पंचायत एवं गांव स्तर पर MPP खोला जाता है एंव वहां किसानों द्वारा उत्पादित दूध सुबह और शाम जमा किया जाता है दूध की गुणवत्ता एवं वजन कर पशुपालकों को पुर्जा दिया जाता है। पशुपालकों को खाता के माध्यम से प्रत्येक 10 दिन में दूध के मूल्य का भुगतान किया जाता है। BMC (बल्क मिल्क कुलर), MPP द्वारा एकत्रित दूध BMC पर लाया जाता है एवं दूध का शीतलीकर्ण कर डेयरी प्लांट, देवघर को दूध उपलब्ध कराया जाता है।

उपायुक्त महोदय के निर्देशानुसार फेसबुक लाइव के माध्यम से सरकार की कल्याणकारी योजनाओं को आमजनों तक पहुंचाया जा रहा है। कोविड-19 के संक्रमण को देखते हुए ऐसा करने का निर्णय लिया गया है ताकि सूचनाओं का आदान-प्रदान सुरक्षित तरीके से हो सके। इधर फेसबुक लाइव के जरिए आमजनों से जुड़ने की प्रक्रिया और व्यापक दायरा में लाने का भी निर्णय लिया गया है। इसके तहत अब जिले के विभिन्न विभागों के अधिकारी आमजन से जुड़ेंगे।

Post a Comment

0 Comments