Latest

6/recent/ticker-posts

मजदूरों को लेने यूपी से आई बस को बोरियो थाने की पुलिस ने किया जब्त ।

पुलिस ने बस को जब्त - Boriyo-news
पुलिस ने बस को जब्त 

साहिबगंज/बोरियो : उत्तर प्रदेश के बागपत जिले से मजदूरों को लेने आई बस को बोरियो थाने की पुलिस ने शुक्रवार की शाम जब्त कर लिया। बताया जाता है कि गुरुवार को यूपी के बागपत से एक टूरिस्ट बस (यूपी 17 एटी 6037) मजदूरों को लेने के लिए बोरियो पहुंची। बस गुरुवार से ही दामिन डाकबंगला के पास खड़ी थी। 

शुक्रवार की शाम बस खुलनेवाली थी। कुछ मजदूर भी उसपर बैठे हुए थे तभी बोरियो थाने की पुलिस एएसआइ दिलीप यादव के नेतृत्व में वहां पहुंची। इसके बाद बस पर सवार मजदूर उतरकर वहां से चले गए। पुलिस ने चालक को बस को थाने में लगाने को कहा। चालक ने बस थाने में लगा दिया। चालक जीतू शर्मा ने बताया कि वहां एक युवक पहुंचा और खर्च के नाम पर कुछ रुपया मांगा। 

नहीं देने पर पुलिस को सूचना देने की बात कही। राशि देने से उसने इन्कार किया तो उसने पुलिस को सूचना दे दी और पुलिस ने बस को थाने में लगवा दिया। इधर, बोरियो थाना प्रभारी लव कुमार सिंह ने बताया कि दो दिन से बस वहां खड़ी थी। इसलिए जांच पड़ताल के लिए उसे थाने में बुलाया गया है। चालक ने बताया कि बागपत के एक गन्ना किसान ने मजदूरों को लाने के लिए यहां भेजा था। 

लौटे हैं हजारों मजदूर : जिले के हजारों मजदूर दूसरे राज्यों में काम करते हैं। लॉकडाउन की वजह से उन्हें घर लौटना पड़ा। अब पुन: खेतीबारी व फैक्ट्री में मजदूरों की जरूरत है। ऐसे में वे उन्हें बुलाना चाह रहे हैं। इसी कड़ी में बस भेजी गई थी। इधर, राज्य सरकार ने दूसरे राज्यों में काम की तलाश में जानेवाले मजदूरों को अपना-अपना निबंधन श्रम विभाग में कराने का निर्देश दिया है लेकिन अब तक मात्र 99 मजदूरों का निबंधन ही श्रम विभाग में हुआ है। इनमें अधिकतर मजदूर सड़क निर्माण के लिए जम्मू गए। 

कुछ मजदूर बिहार के एक नर्सिग होम में काम करने के लिए गए हैं। श्रम अधीक्षक ने बताया कि पंचायत सचिव को पूर्व में मजदूरों का निबंधन करने का निर्देश दिया गया था लेकिन वे सक्रिय नहीं हुए। मजदूरों का निबंधन नजदीक में ही हो जाए इसके लिए उपायुक्त से बात कर पंचायत सचिवों को आवश्यक निर्देश देने का अनुरोध किया जाएगा।

दो-तीन दिन से एक बस बोरियो में खड़ी थी। जानकारी मिली कि बस मजदूरों को उत्तर प्रदेश ले जाने के लिए आई है। पुलिस जांच कर रही है। मजदूरों को ले जाने से पूर्व उनका निबंधन होना जरूरी है।
अनुरंजन क्रिस्पोट्टा, एसपी, साहिबगंज

Post a Comment

0 Comments